सफाई कर्मचारी की बेटी की शादी में मायरा भरने पहुंचा श्यामनगर थाना स्टाफ

पुलिस के सामाजिक सरोकार को देखकर कानाराम और उनका परिवार भावुक हो गया। थानाधिकारी संतरा मीणा ने बताया कि कानाराम लंबे अरसे से श्याम नगर पुलिस थाने में साफ-सफाई का कार्य करता आ रहा है। सोमवार को कानाराम की बेटी कोमल की शादी थी। जिसमें श्याम नगर थाने के पूरे स्टॉफ को निमंत्रण दिया गया। जिस पर थानाप्रभारी संतरा मीणा ने स्टॉफ के साथ बातचीत कर सफाईकर्मी कानाराम की आर्थिक मदद का प्रस्ताव रखा था। 

सफाई कर्मचारी की बेटी की शादी में मायरा भरने पहुंचा श्यामनगर थाना स्टाफ

जयपुर। राजधानी की श्याम नगर थाना पुलिस टीम ने सामाजिक सरोकार निभाते हुए सोमवार को फुलेरादोज पर थाने परिसर में सफाई कर्मचारी कानाराम निवासी बदरवास की बेटी कोमल की शादी में पहुंचकर 24 हजार रुपए की नकदी समेत अन्य सामानों से मायरा भरा। इस मौके पर थानाधिकारी संतरा मीणा, सब इंस्पेक्टर मनीराम समेत सहित समस्त थाना स्टाफ बदरवास स्थित सफाईकर्मी जितेंद्र के घर पहुंचे और उसकी बेटी कोमल की शादी में 24 हजार रुपए की नकदी समेत अन्य सामान मायरा के रूप में भेंट किए गए। जहां एकबारगी इतने पुलिसकर्मियों को देखकर लोग भी चौंक हो गए। वहीं, जब मांगलिक कार्यक्रम में कानाराम की पत्नी ने थानाप्रभारी संतरा मीणा सहित सभी पुलिसकर्मियों के तिलक और आरती कर स्वागत किया। इसकी एवज में पुलिसकर्मियों ने उन्हें भात में रकम और अन्य उपहार दिए। यह दृश्य देखकर वहां मौजूद लोगों चकित रह गए। पुलिस के सामाजिक सरोकार को देखकर कानाराम और उनका परिवार भावुक हो गया।

थानाधिकारी संतरा मीणा ने बताया कि कानाराम पिछले लंबे अरसे से श्याम नगर पुलिस थाने में साफ-सफाई का काम करता आ रहा है। सोमवार को थाना इलाके में स्थित बदरवास में रहने वाले कानाराम की बेटी कोमल की शादी थी। जिसमें कानाराम ने भी श्याम नगर थाने के पूरे स्टॉफ को निमंत्रण दिया। जिस पर थानाप्रभारी संतरा मीणा ने स्टॉफ के साथ बातचीत कर सफाईकर्मी कानाराम की आर्थिक मदद का प्रस्ताव रखा। इसमें तय हुआ कि कानाराम की बेटी को अपनी बेटी मानकर पुलिस थाने के स्टॉफ और सीएलजी सदस्यों की तरफ से भात (मायरा) भरा जाए। इसके बाद थाने के स्टॉफ और सीएलजी सदस्यों ने मिलकर 24 हजार रुपए की नकदी सहित अन्य सामान इकट्‌ठा किए। जिसके बाद थानाधिकारी समेत थाने का स्टॉफ और सीएलजी सदस्य भात लेकर सफाईकर्मी कानाराम के घर पहुंचे।