रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते चार आरोपी गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में खुलाया हुआ कि रेमडेसिवर इंजेक्जन मेडिकल स्टोर पर 2500 से 3600 के बीच में मिलते है, परन्तु उन्होंने पहले से ही रेमडेसिवर इंजेक्जनों को स्टोर करना शुरू कर दिया था और जरूरतमंद लोगों को रेमडेसिवर इंजेक्जन 25 से 30 हजार रुपए में बेच रहे थे।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते चार आरोपी गिरफ्तार

जयपुर। राजधानी के सोडाला थाना पुलिस ने जयपुर शहर में रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी करने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से पांच रेमडेसिवर इंजेक्जन बरामद किए गए है। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
पुलिस उपायुक्त जयपुर दक्षिण हरेन्द्र महावर ने बताया कि सोडाला थाना पुलिस को सूचना मिली कि इलाके में स्थित सीतादेवी अस्पताल व पॅजा हास्पीटल के आस-पास रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी करने वाला गिरोह सक्रिय है। जो रेमडेसिवर इंजेक्जन की किमत से कही अधिक किमतों पर पीड़ित लोगों को बेचा रहा है। जिस पर सोडाला थाना पुलिस ने एक पुलिसकर्मी को बोगस ग्राहक बनाकर शिकायत का सत्यापन किया गया तो सीतादेवी अस्पताल के पास दिलखुश नाम का व्यक्ति 2 हजार 450 रुपए का रेमडेसिवर इंजेक्जन 25 हजार रुपए में बेच रहा था। जिस पर इशारे मिलने पर पुलिस टीम ने रेमडेसिवर इंजेक्जन जब्त कर गिरोह में लिप्त अन्य सदस्य बलबीर, पुष्पेन्द्र व गोपाल को धर-दबोचा और उनके पास से चार अन्य रेमडेसिवर इंजेक्जन बरामद किए गए है। वहीं एक अन्य आरोपी मौके से फरार हो गया। जिसकी तलाश की जा रही है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में खुलाया हुआ कि रेमडेसिवर इंजेक्जन मेडिकल स्टोर पर 2500 से 3600 के बीच में मिलते है परन्तु हमने पहले से ही रेमडेसिवर इंजेक्जनों को स्टोर करना शुरू कर दिया था और जरूरतमंद लोगों को रेमडेसिवर इंजेक्जन 25 से 30 हजार रुपए में बेच रहे थे।
सोडाला सहायक पुलिस आयुक्त भोपाल सिंह भांटी ने बताया कि रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी करने वाला बलबीर सिंह (25) निवासी गांव हथोडी तहसील वल्लभनगर, वैर, जिला भरतपुर हाल मालवीय नगर रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी का मुख्य सरगना है, जिसने धनवन्तरी काॅलेज से नर्सिंग किया है। पूर्व में अस्पतालों में नर्सिंग स्टाॅफ का काम भी कर चुका है। आरोपी वर्तमान में अपने निवास पर ऑफिस खोल पर रखा है और घरों, अस्पतालों में नर्सिंग स्टाॅफ उपलब्ध करवाता है। वहीं दूसरा आरोपित पुष्पेन्द्र जैतवाल (32) निवासी अग्रसेन विहार न्यू मंडी हिण्डौन सिटी जिला करौली हाल, पटेल मार्ग शिप्रापथ मानसरोवर जयपुर का रहने वाला है। जो अपने घर पर ही रहकर रेमडेसिवर इंजेक्जन की जरूरत वाले लोगों की वाॅटसअप पर डिमाण्ड प्राप्त कर आरोपी बलबीर के मार्फत कमिशन बेस पर रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी करवाता है। आरोपी दिलखुश गुर्जर (21) निवासी बनेठा जिला टोंक हाल  सैयद्द का गट्टा टोंक रोड जयपुर का रहने वाला है। जो रेमडेसिवर इंजेक्जन की कालाबाजारी में केरियर का काम करता है और सप्लाई करके रुपए प्राप्त करता है और चौथा आरोपी गोपाल चौधरी निवासी बयाना भरतपुर हाल मानसरोवर का रहने वाला है जो वर्तमान में सी.के.बिरला अस्पताल में नर्सिंग स्टाॅफ है। 

पुलिस ने जब्त किए 586 ऑक्सोमीटर :
इधर मालवीय नगर थाना पुलिस ने ऑक्सोमीटर की कालाबाजारी में एक व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर 586 ऑक्सोमीटर जप्त किए है। फिलहाल मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।
थानाधिकारी धर्मराज चौधरी ने बताया कि मालवीय नगर के सेक्टर एक में ऑक्सोमीटर की कालाबाजारी को लेकर कार्रवाई की गई है। आपदा प्रबंधन अधिनियम के अंतर्गत आरोपी विनोद असवानी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसके कब्जे से पल्स ऑक्सो मीटर फिंगर्टिप 586 नग जप्त किए गए हैं।