जेकेके के फेसबुक पेज पर छाई लोक संगीत व संस्कृति

जेकेके के फेसबुक पेज पर छाई लोक संगीत व संस्कृति

जयपुर। राजस्थान सरकार के कला एवं संस्कृति विभाग तथा जवाहर कला केंद्र (जेकेके) की ओर से लोक व सूफी प्रस्तुतियों की वर्चुअल सीरीज आर्टिस्ट कॉलोब्रेशन सीरिज का एपिसोड-2 ‘लोक अनुरंजन’ आयोजित किया गया।

सीरीज के दूसरे दिन कानपुर (उत्तर प्रदेश) के नीरज कुमार एंड ग्रुप द्वारा बेहतरीन लोक प्रस्ततियां दी गई। यह कार्यक्रम आज शाम तक चलेगा। यह जेकेके के फेसबुक पेज पर प्रदर्शित किया जा रहा है। जेकेके की अतिरिक्त महानिदेशक (प्रशासन), जेकेके, डॉ. अनुराधा गोगिया द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया।

ग्रुप की ओर से बोलियों पर आधारित लोक प्रस्तुति ‘कोस-कोस पर बदले पानी, चार कोस पर बानी’ दी गई, जिसमें कई प्रमुख लोक गीतों को संयोजित किया गया। ग्रुप द्वारा सूरदास, कबीर, तुलसीदास, रहीम, रसखान, अमीर ख़ुसरो एवं बुल्ले शाह जैसी शख्सियतों की रचनाएं प्रस्तुत की गई। साथ ही विलुप्त होने के कगार पर खड़े विवाह गीत, आमतौर पर भोजपुरी व अवधी में गाया जाने वाला गारी गीत, पहाड़ी व राजस्थानी लोक गीत भी पेश किए गए।